Saturday, June 22, 2013

उड़नखटोले में आये जनाव

उड़नखटोले में आये जनाव
देखा हमारा हाल और उड़ गए वापिस
आस थी कि करेंगे कुछ हमारे लिए
उन्होंने तो पूछा भी नहीं
कि नागरिक हाल बहाल क्यों है तुम्हारा
जब वोट आये थे मांगने तो कहा
कि सारी परेशानियां तुम्हारी है अब से
सिंहासन मिला तो
भूल गए कि
आये थे मांगने हमसे एक दिन
जनावा आये उड़नखटोले में
और उड़ गए वापस हमारा हाल बहाल देख के......
------------------------------------------------------->Infinity