Thursday, July 24, 2014




















गोदामो मे दबा माल समय के साथ सड़ता रहा
बाहर एक बेनसीब गरीब भूखा पेट मारता रहा ....
दुहाई देती रही सरकार अनाज के न होने की
और चूहे पार्टियां मानते रहे ....