Wednesday, October 28, 2015

सच ले के बैठे रहे बाजार मे बहुत देर तक झूठ बिकती रही धरल्ले से ....

सच ले के बैठे रहे बाजार मे बहुत देर तक
झूठ बिकती रही धरल्ले से ....