Tuesday, January 14, 2014

होंठ जनता नहीं कि पेट भूखा है हमारा

होंठ जनता नहीं कि पेट भूखा है हमारा
मुस्कुरा देता है बेफिक्री में कभी कभी
और हुजूर को लगता है
कि थाली हमारी  भी भरी थी कल रात को…

------------------------> Infinity